खेलों में व्यायाम करें

0
19
खेलों में व्यायाम करें

कम उम्र से ही अच्छी आदतों का होना आपके जीवन के बाकी हिस्सों के लिए फायदेमंद है। चार साल के बच्चों में बहुत ऊर्जा होती है। उनकी ऊर्जा को सही काम में लगाया जाना चाहिए। आप उन्हें विभिन्न प्रकार के खेल या खेल सिखा सकते हैं। इसलिए उन्हें व्यायाम मिलेगा और उन्हें खेल का अच्छा स्वाद मिलेगा। आपको छोटे-छोटे व्यायाम करने होंगे जैसे कि बॉल को पकड़ना, रस्सी कूदना, दौड़ना या कम अंतराल में साइकिल चलाना।

कम उम्र से ही अच्छी आदतों का होना आपके जीवन के बाकी हिस्सों के लिए फायदेमंद है। चार साल के बच्चों में बहुत ऊर्जा होती है। उनकी ऊर्जा को सही काम में लगाया जाना चाहिए। आप उन्हें विभिन्न प्रकार के खेल या खेल सिखा सकते हैं। इसलिए उन्हें व्यायाम मिलेगा और उन्हें खेल का अच्छा स्वाद मिलेगा। आपको छोटे-छोटे व्यायाम करने होंगे जैसे कि गेंद को पकड़ना, रस्सी कूदना, कम अंतराल पर दौड़ना या साइकिल चलाना।

आमतौर पर, छह से सात साल की उम्र के बच्चों को अच्छी तरह से समझा जाता है। विभिन्न खेलों और उनकी मस्ती को समझें। खेल के नियमों को भी जाना जाता है। वे एक खेल सीखने के लिए शारीरिक रूप से तैयार भी हैं। उनमें से कुछ प्रतियोगिता का आनंद भी लेते हैं, जबकि कुछ मानसिक रूप से नौवें-दसवें वर्ष के लिए तैयार नहीं होते हैं।

छठे से सातवें वर्ष में आंखों और हाथों की गति में काफी सुधार होता है। वे खेल के नियमों और बुनियादी बातों को समझने आए हैं। उन्हें तैराकी, साइकिलिंग, टीम स्पोर्ट्स और आउटडोर खेलों में शामिल होना चाहिए। इसे मज़ेदार बनाने के लिए उन्हें कई तरह के खेल खेलने दें। उन्हें शुरुआत में प्रतियोगिता में न डालें।

शोध से पता चलता है कि दस साल के बच्चे ऐसे खेल और खेल में अधिक शामिल होते हैं जो मानसिक और शारीरिक रूप से चुनौतीपूर्ण होते हैं। विभिन्न प्रतियोगिताओं को खेलते हुए आपके बच्चे में एक सकारात्मक ऊर्जा होनी चाहिए। खेल के प्रति खिलाड़ियों का रवैया विकसित होना चाहिए। विभिन्न खेलों के माध्यम से उन्हें व्यायाम करना भी आवश्यक है। एक अभिभावक के रूप में, आप उन्हें एक खेल या खेल पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकते हैं। निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।

लेखन अनुसूची चलो
नियमितता का महत्व सिखाएं
लक्ष्य निर्धारित करें
आवश्यक प्रविष्टियां करें
समय-समय पर जांच करें
सराहना करने के लिए मत भूलना

यदि माता-पिता सक्रिय हैं, तो बच्चों की उन्हें देखने की प्रवृत्ति उस दिशा में बढ़ जाती है। बच्चे उदाहरण से सीख रहे हैं। इसलिए उनके सामने एक अच्छा उदाहरण या एक अच्छा उदाहरण सेट करें। जाओ उनके साथ सप्ताहांत खेलें। जैसा कि आप खेलते हैं, उन्हें अलग-अलग चीजें सिखाएं। आप दोनों के बीच मुकाबला।
बच्चों को व्यायाम के महत्व और इसके महत्व को स्वीकार करने की आवश्यकता है। वे आपको विभिन्न खेलों के लिए मना सकते हैं। बुढ़ापे में नियमित रूप से व्यायाम करना मुश्किल है। इसलिए उन्हें व्यायाम का अच्छा स्वाद दें। एक बार जब वे इसमें लगे रहेंगे, तो वे जीवन भर उसका साथ नहीं छोड़ेंगे। एक अभिभावक के रूप में आपको उनका मार्गदर्शन करने की आवश्यकता है। उनके साथ खेलते समय या विभिन्न प्रकार के खेल खेलते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें।

प्री-एक्सरसाइज चेकलिस्ट

वार्म अप व्यायाम शुरू करें।
उपयुक्त कपड़े और जूते पहनें।
व्यायाम शुरू करने से पहले खूब पानी पिएं।

व्यायाम की जाँच करें

शांत अभ्यास करने के लिए मत भूलना।
व्यायाम के बाद पानी पिएं।
यदि आपको भूख लगी है, तो अपने बच्चे को फलों का रस या मिल्कशेक दें।

याद रखे

उचित व्यायाम तकनीक सिखाएं।
यह बताएं कि व्यायाम के साथ आराम करना कितना महत्वपूर्ण है।

व्यायाम के लाभ

व्यायाम करने से आपकी मांसपेशियों को ऊर्जा मिलती है। नतीजतन, आपके शरीर को ताकत मिलती है।
खपत की गई कैलोरी से अधिक जलने से आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी।
दिल के दौरे आपसे दूर रहते हैं।
अच्छी नींद लेने में मदद करता है।
तनाव महसूस न करें। पूरा दिन खुश लगता है।
याददाश्त बढ़ने में मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here