छत्रपति शिवाजी महाराज के विचारों की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए कटिबध्द -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

0
छत्रपति शिवाजी महाराज के विचारों की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए कटिबध्द -मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

पुणे – गरीबों के मन में यह ख्याल आना चाहिए कि यह मेरी सरकार है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विश्वास व्यक्त किया कि सरकार छत्रपति शिवाजी महाराज के विचारों की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध होगी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के जयकारे से माहौल में ख़ुशी की लहर दौड़ गई जैसे सनाय-चौगाइयों, तातारों की ज़ोरदार गड़गड़ाहट, ढोल की गूँज, भगवा ध्वज, ‘जय भवानी, जय शिवाजी’, ‘छत्रपति शिवाजी महाराज और जयराज’। मनाया गया। मुख्यमंत्री इस अवसर पर बोल रहे थे। इस कार्यक्रम में अन्य मंत्रियों और अधिकारियों के साथ एक बड़ी भीड़ मौजूद थी।

इस कार्यक्रम में शामिल होने वालों में खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल, लोक निर्माण राज्य मंत्री दत्तात्रय भारन, सूचना और जनसंपर्क राज्य मंत्री अदिति तटकरे, सांसद शामिल थे। अमोल कोल्हे, विधायक अतुल बेंके मुख्य परिचारक थे। मुख्यमंत्री ठाकरे ने आगे कहा, ‘हम सबके दिलों में शिव विचार हैं। जिजाऊ माँ साहेब और छत्रपति शिवाजी महाराज के विचार मजबूत, प्रेरणादायक रहें। शिवनेरी हमारी महिमा है। उन्होंने आश्वासन दिया कि इस गौरव की विरासत को संरक्षित करने और आगे बढ़ाने के लिए सभी आवश्यक प्रयास किए जाएंगे।

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा, छत्रपति शिवाजी महाराज ने सभी समाज के विकास की दिशा दिखाई। इस दिशा में सरकारी काम चल रहा है। यह सावधानी बरती जा रही है कि वित्तीय प्रावधानों के कारण शिवनेरी क्षेत्र का विकास लंबित न रहे। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए 23 करोड़ रुपये तत्काल उपलब्ध कराए जाएंगे। कानून के ढांचे के भीतर मराठा आरक्षण के दौरान दर्ज अपराधों को पुनः प्राप्त करने का प्रयास किया जाएगा। अजीत पवार ने बताया कि जिन अपराधों में सरकारी संपत्ति या सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान नहीं होता है उन पर आपराधिक मामले वापस लिये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here