ट्रम्प को झोपड़ियों को नहीं देखना चाहिए; गुजरात में इसलिए दिवार बनाई गई

0
ट्रम्प को झोपड़ियों को नहीं देखना चाहिए; गुजरात में इसलिए दिवार बनाई गई

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनकी पत्नी मिलनिया ट्रम्प 24-25 फरवरी को भारत आने वाले हैं। गुजरात के अहमदाबाद शहर को इस महत्वपूर्ण अतिथि के स्वागत के लिए सजाया जा रहा है। इस शहर को सुंदर बनाने के लिए अरबों रुपये खर्च हो रहे हैं। गुजरात में अब गरीबों की झोपड़ी बाधा बनने लगी है। इसलिए झोपड़ियों को ढकने के लिए अहमदाबाद में एक दीवार खड़ी की जा रही है। इस बारे में अधिक जानकारी ।

अहमदाबाद नगरपालिका सड़कों के किनारे झुग्गियों को डोनाल्ड ट्रम्प और अन्य विदेशी न दिख पाए इसकेलिए दीवारें खड़ी कर रही हैं।दीवारे देखके पता चलता है की यह दीवारे हमेशा के लिए बनाई जा रही हैं।

इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार, अहमदाबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे को इंदिरा गांधी पुल से जोड़ने वाली सड़क के किनारे एक बड़ी झुग्गी है। इन झोपड़ियों को छिपाने के लिए दीवार खड़ी की जा रही है।अहमदाबाद के मेयर बिजल पटेल को दीवार के बारे में कुछ नहीं पता। पटेल ने कहा, “मैंने दीवार नहीं देखी है और मुझे इसके बारे में कुछ नहीं पता है।”

सूत्रों के मुताबिक, ट्रंप जिस सड़क पर जा रहे हैं, उस पर करीब 50 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस पूरी सड़क पर सजावटी लाइटें लगाई जाएंगी और इस पर लगभग 1 करोड़ रुपये खर्च होंगे। लेकिन एक निर्णय अभी बाकी है।

अहमदाबाद का मोटर्रा स्टेडियम भी अमेरिका में होने वाले ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम के समान एक मेगा इवेंट की मेजबानी करने की तैयारी कर रहा है। स्टेडियम की कार पार्किंग में 3000 कारों, और 10000 दो पहियों को पार्क करने की क्षमता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here