तामिळनाडू / पक्ष की स्थापना किये बिना रजनीकांत की राजनीती में एंट्री

0
19
तामिळनाडू / पक्ष की स्थापना किये बिना रजनीकांत की राजनीती में एंट्री,

तामिळनाडू / पक्ष की स्थापना किये बिना रजनीकांत की राजनीती में एंट्री,

चेन्नई: सुपरस्टार रजनीकांत ने राजनीति में प्रवेश के बारे में गुरुवार को चेन्नई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने इस समय अपनी पार्टी की घोषणा नहीं की, लेकिन भविष्य की राजनीति के लिए अपनी योजनाओं को बताया। उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी तमिलनाडु का मुख्यमंत्री बनने का सपना नहीं देखा था। मैं सिर्फ राजनीति बदलना चाहता हूं। ‘ अपनी पार्टी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं एक ऐसी पार्टी बनाने जा रहा हूं, जहां सरकार और पार्टी प्रमुख अलग-अलग होंगे और काम अलग होगा।”

उन्होंने आगे कहा, “तमिलनाडु की राजनीति में दो बड़े खिलाड़ी थे, एक जयललिता और दूसरा करुणानिधि। तमिलनाडु की जनता ने दोनों को वोट दिया। लेकिन अब उनके जाने से राज्य की राजनीति मुक्त हो गई है। अब हमें बदलाव लाने के लिए एक नया आंदोलन शुरू करना होगा। रजनी ने 31 दिसंबर, 2017 को अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में राजनीति में प्रवेश की घोषणा की थी।

रजनीकांत ने 3 बिंदुओं में अपनी पार्टी के कार्यक्रम का वर्णन किया

1. उन्होंने कहा कि वह पार्टी में ऐसे पदों पर भर्ती नहीं करेंगे जो चुनाव के दौरान महत्वपूर्ण हों लेकिन बादमे सिर्फ भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं । क्योंकि इस तरह के पदों पर बैठे लोगों को उनके काम के बदले टेंडर्स आमि कॉन्ट्रॅक्ट दिए जाते हैं। इन चीजों को बंद करना होगा।

2. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में 60-65 युवाओं को मौका दिया जाएगा। साथ ही, केवल वे लोग जो उच्च शिक्षित हैं और अच्छी छवि के हो उन्कोहि उमेदवारी दी जाएगी। अन्य पदों पर पूर्व न्यायाधीशों, पूर्व आईएएस अधिकारियों और समाज में अच्छी छवि नागरिकों उमेदवारी दी जायेगी ।

3. उन्होंने कहा है कि DMK और AIADMK में एक ही व्यक्ति सरकार और पार्टी का प्रमुख नहीं होगा। पार्टियों के बीच उनकी समान दूरी होगी। साथ ही, रजनी खुद सरकार के काम पर नज़र रखेंगे लेकिन उनके काम में हस्तक्षेप नहीं करेंगे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here