बेहद गरीब परिवार में जन्मे माइकल जॉर्डन आज सबसे अमीर खिलाड़ियों में से एक हैं

0
18
बेहद गरीब परिवार में जन्मे माइकल जॉर्डन आज सबसे अमीर खिलाड़ियों में से एक हैं

जब बास्केटबॉल की बात आती है, तो माइकल जॉर्डन का नाम पहले आता है। वह एक अमेरिकी बास्केटबॉल खिलाड़ी थे । अब उन्होंने खेलना बंद कर दिया है। उनका जन्म एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था। उनका परिवार एक झोपड़ी में रहता था। लेकिन उनका विचार हमेशा कुछ बड़ा करने का था। उनका ये मनना बड़ी सोच रखने से ज़िन्दगी बदल सकती है । जब जॉर्डन १३ सालके थे तब उनके पिताने उन्हें बुलाया। एक पुराण कपडा देकर वह बोले , ‘बेटा इसकी कीमत मुझे बता .’ मायकल थोडा विचार करके बोले , एक डॉलर. तब पिता ने कहा जा इसको बाजार में २ डॉलर में बेच आ। मायकलने ने उस कपडे को धोया और ,इस्त्री न होने के कारन कपड़ों के ढेर के निचे रख दिया।

अगले दिन उन्होंने देखा कि कपड़ा अब बहुत अच्छा लग रहा है। वह निकटतम ट्रेन स्टेशन पर गये और पांच घंटे बाद कपड़ा बेचा। वह खुश होकर घर आये और अपने पिता को पैसे दिए। लगभग १५ दिनों के बाद, पिता ने फिर से कपड़ा दिया और इसे $ २० में बेचने के लिए कहा। माइकल चौंक गये । यह पूछे जाने पर कि इस पोशाक के लिए $ २० का भुगतान कौन करेगा? पिता ने कहा, इसे आजमा कर तो देखो । माइकल ने एक बार फिर अपना सिर हिलाया। एक दोस्त की मदद से, वह शहर जाता है और अपने कपड़ों पर मिकी माउस स्टिकर चिपका दिते हैं । इस कपड़े को लेकर, वह एक अमीर बच्चों के स्कूल के सामने खड़ा थे । एक छोटे लड़के ने उन्हें देखा और अपने पिता से वह कपडा खरदने की ज़िद करने लगा । लड़के के पिता ने पाँच डॉलर अधिक डॉलर्स देकर उनसे वह कपडा ख़रीदा । इस प्रकार जॉर्डन ने $ २५ में डॉलर का एक कपड़ा बेचा। अपने पिता को बताया। कुछ दिनों बाद पिता ने फिर एक कपड़ा दिया। कहा, इसे $ २०० में बेच दें। यह बहुत ज्यादा था। लेकिन माइकल ने कुछ नहीं कहा। क्योंकि वे हमेशा सफल रहे। इस बार उन्हें दो से तीन दिन लगे। वे नहीं जानते थे कि इस परिधान को $ २०० कैसे प्राप्त किया जा सकते है। अचानक उन्हें एक विचार आया। वे तुरंत शहर गए। उस दिन एक प्रसिद्ध अभिनेत्री शहर में आई थी। पुलिस का घेरा को तोड़कर, वह अभिनेत्री के ऑटोग्राफ के लिए पहुंचे ।

छोटे बच्चे को देखने के बाद, वह ना नहीं कह सकती थी। माइकल अगले दिन बाजार गये । उन्होंने कपड़े के लिए $ २०० की कीमत रखी । उस क्षण, एक बड़ी भीड़ एकत्र हुई। भीड़ इतनी बढ़ गई कि कपड़े पर बोली लग गई। अंत में, कपड़े को एक अमीर आदमी ने लगभग 2 ,000 डॉलर में खरीदा लिया। माइकल पैसे लेकर घर पहुंचे और सारी कहानी पिता को बताई। पिता की आंखों में आंसू बह निकले। उन्होंने कहा, ‘बेटा, तुम अपने जीवन में कुछ भी कर सकते हो।’

एक इंटरव्यू में, माइकल ने कहा, “जहां सकारात्मक विचार हैं, वहां रास्ते अपने आप दिखाई देने लगते हैं।” आप कभी भी नकारात्मक सोच के साथ सकारात्मक जीवन नहीं जी सकते। तब माइकल के पिता को विश्वास हो गया कि उसका बेटा कुछ भी कर सकता है। आज माइकल युवा पीढ़ी के लिए एक आदर्श बन गया है। माइकल जॉर्डन का जन्म १७ फेब्रुवारी १९६३ को ब्रुकलिन, न्यूयॉर्क में हुआ था। वह स्कूल में बास्केटबॉल खेलते थे । माइकल ने नेशनल बास्केटबॉल एसोसिएशन के माध्यम से दुनिया भर में अपने लिए एक नाम बनाया है। उन्होंने १९९८ में खेल से अपनी सेवानिवृत्ति को स्वीकार कर लिया। २००१ में, उन्होंने वॉशिंग्टन विझार्डके साथ के साथ फिर से खेलना शुरू किया। वह दो साल से एक ही टीम का हिस्सा थे। २००३ में, उन्होंने खेल को अलविदा कहा। दो बार उन्होंने ओलंपिक में भाग लिया। दो बार अमेरिकी बास्केटबॉल टीम ने स्वर्ण पदक जीता। जॉर्डन का नाम दुनिया के सबसे शक्तिशाली सेलिब्रिटी और सबसे अमीर खिलाड़ियों की सूची में है।

जीवन से क्या सीखा

– पहले खुद से अपेक्षा करें, फिर काम करें।

– चीजों के स्वतः होने की प्रतीक्षा न करें।

– अपना काम पूरी शिद्दत से करें।

– सोचें कि किसी समस्या को कैसे हल किया जाए।

– वही करें जो आप चाहते हैं, असफलता से मत डरें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here