महामारी: अब अफ्रीकी देशों में खतरा बढ़ गया है, टॉप 10 बाधित देशों में द.अफ्रीका; इमरजेंसी बढ़ गई

0

जोहान्सबर्ग/ लंडन : दक्षिण अफ्रीका कोरोना प्रभावित 10 देशों में से एक है। अब तक, 2,76,242 रोगियों का निदान किया गया है और 4,079 लोगों की मृत्यु हो गई है। परिणामस्वरूप, राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा ने आपातकाल की स्थिति को 15 अगस्त तक बढ़ा दिया है। इसके मुताबिक, हर रात 9 बजे से सुबह 4 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। शराब की बिक्री और वितरण पर भी फिर से प्रतिबंध लगा दिया गया है। पारिवारिक यात्राओं और सामाजिक यात्राओं पर भी प्रतिबंध रहेगा। राष्ट्रपति ने कहा कि हर दिन औसतन 12,000 नए रोगियों का पंजीकरण किया जा रहा है। कई नागरिक एहतियातन नियमों का पालन नहीं करते हैं जैसे कि मास्क पहनना और दूरी बनाए रखना।

जोहान्सबर्ग/ लंडन : दक्षिण अफ्रीका कोरोना प्रभावित 10 देशों में से एक है। अब तक, 2,76,242 रोगियों का निदान किया गया है और 4,079 लोगों की मृत्यु हो गई है।...

दूसरी ओर, ब्रिटेन में, अनलॉक का एक नया चरण शुरू हो गया है। इसके बाद सैलून सहित अन्य व्यवसाय यहां शुरू हुए। यूके के व्यापार मंत्री आलोक शर्मा ने कहा, “हम जितना संभव हो उतना व्यापार फिर से शुरू करना चाहते हैं।” लेकिन हमें आश्वस्त होने की जरूरत है कि ऐसा करना लोगों के लिए सुरक्षित होगा।

एक टीके से कुछ भी नहीं होगा, फिरसे वापस आ सकता है कोरोना : अनुसंधान

जो लोग कोरोना से उबरते हैं वे कुछ महीनों के बाद अपनी प्रतिरक्षा खो सकते हैं और वायरस से दोबारा संक्रमित हो सकते हैं। किंग्स कॉलेज लंदन द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। स्पैनिश शोध में पाया गया कि एक मरीज के शरीर में बने एंटीबॉडी कुछ ही हफ्तों में गायब हो सकते हैं। गार्जियन की एक रिपोर्ट के अनुसार, वैज्ञानिकों ने 90 रोगियों की प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं का अध्ययन किया। अध्ययन में कोरोना के लक्षणों की शुरुआत के 3 सप्ताह बाद एंटीबॉडी का उच्चतम स्तर पाया गया। लेकिन फिर धीरे-धीरे कम हो गया। किंग्स कॉलेज में शोध के प्रमुख लेखक और एक डॉक्टर केटी डोर कहते हैं, लोग एंटीबॉडी विकसित कर रहे हैं, लेकिन कुछ ही समय में वे कम होने लगते हैं। यह पता चला है कि लोग कोरोना वायरस से लंबे समय तक सुरक्षित नहीं रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here