हाफिज सईद को टेरर फंडिंग मामलों में ११ साल की कैद

0
Hafiz

लाहौर (भाषा)। ॥ मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड़ तथा कुख्यात आतंकी एवं जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद को पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद को वित्त पोषण करने के दो मामलों में ११ साल की सजा सुनाई है तथा ३० हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है। संयुक्त राष्ट्र से आतंकी घोषित सईद को पिछले साल १७ जुलाई को आतंकवाद के वित्त पोषण के मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह उच्च सुरक्षा वाले लाहौर के कोट लखपत जेल में बंद है। अमेरिका ने सईद पर एक करोड़़ ड़ॉलर का इनाम भी रखा है॥। अदालत के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि की है कि पंजाब प्रांत में आतंकवाद को वित्त पोषण करने के मामले में इस कुख्यात आतंकी को सजा सुनाई गई है। पंजाब पुलिस के आतंकवाद विरोधी विभाग के आवेदन पर उसके खिलाफ लाहौर एवं गुजरांवाला शहर में ये दोनों मामले दर्ज किए गए थे। अदालत ने दोनों मामलों में सईद को साढ़े पांच साल–साढ़े पांच साल कैद की सजा सुनाई जबकि दोनों मामलों में १५–१५ हजार का जुर्माना भी लगाया। अधिकारी ने बताया‚ दोनों मामलों की सजा साथ साथ चलेंगी। आतंकवाद निरोधक अदालत ने आतंकवाद को वित्त पोषण करने के मामलों की रोजाना सुनवाई करते हुए ११ दिसम्बर को सईद एवं उसके एक सहयोगी को दोषी करार दिया था। पिछले शनिवार को लाहौर आतंकवाद निरोधक अदालत (एटीसी) के न्यायाधीश अरशद हुसैन भुट्टा ने सईद के खिलाफ आतंकवाद को वित्त पोषण के दोनों मामलों में सजा को ११ फरवरी तक टाल दिया था। ॥ दोनों मामलों में अभियोजन पक्ष ने एटीसी में २० या इससे अधिक गवाह पेश किए जिन्होंने सईद और उसके सहयोगी के खिलाफ गवाही दी। सईद ने दोनों मामलों में अपनी गलती नहीं स्वीकारी। काउंटर टेररिज्म विभाग ने सईद और उसके साथियों के खिलाफ २३ मामले दर्ज किए हैं। उनके खिलाफ पंजाब प्रांत के विभिन्न शहरों में आतंकवाद का वित्त पोषण करने का आरोप है। सईद के खिलाफ यह मामले लाहौर‚ गुजरांवाला एवं मुल्तान में दर्ज किए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here