ब्रिटेन ने चीन के दूरसंचार नेटवर्क से बाहर निकलने की तैयारी की, पीएम जॉनसन हुआवे पर प्रतिबंध लगा सकते हैं

Share this News (खबर साझा करें)

लंडन : चीन की 5G नेटवर्क कंपनी Huawei पर अमेरिका के बाद ब्रिटेन में प्रतिबंध लगेगा। ब्रिटेन के दूरसंचार प्रमुख हॉवर्ड वॉटसन ने कहा कि यदि दो मंत्रियों के समूह के आदेश से हुआवेई के उपकरण को तत्काल हटाया जाता है तो देश का टेलीफोन नेटवर्क दो दिनों के लिए बंद हो जाएगा। यूके में सभी 4 जी, 2 जी और 5 जी नेटवर्क के लिए कम से कम पांच से सात साल लगेंगे, ताकि उनका इंफ्रास्ट्रक्चर या टॉवर स्थापित हो सके। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन किसी भी समय परीक्षण के लिए हुआवेई को दी गई 5 जी नेटवर्क की मंजूरी वापस ले सकते हैं। जॉनसन ने अधिकारियों को हुआवेई की साझेदारी को कम करने के लिए एक योजना बनाने का निर्देश दिया है। हुआवेई पर दूरसंचार उपकरणों के माध्यम से जासूसी करने का आरोप है। यूके के अलावा, संयुक्त राज्य अमेरिका, जर्मनी, जापान, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और ताइवान ने हुआवेई की 5 जी तकनीक या कड़े नियमों का उपयोग करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। एक सप्ताह पहले, अमेरिकी संघीय संचार आयोग के एफसीसी अध्यक्ष अजित पै ने ट्विटर पे सबुत के आधार पर हुवावे और झेडटीई को अमेरिकाके कम्युनिकेशन नेटवर्क और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए धोका होने का पत्र जारी किया है।

ब्रिटेन ने चीन के दूरसंचार नेटवर्क से बाहर निकलने की तैयारी की

भारत ने हुआवेई परीक्षण की अनुमति दे दी है, लेकिन स्पेक्ट्रम नीलामी की शर्तें सख्त होनी चाहिए

भारत ने पहले ही 5G ट्रायल के लिए Huawei और ZTE को अनुमति दे दी है। दूरसंचार उपकरण और सेवा निर्यात संवर्धन परिषद के महानिदेशक आर. के. भटनागर ने पहले कहा था कि 5G परीक्षण के लिए कोई खतरा नहीं है। 5 जी स्पेक्ट्रम के अनुसार, सरकार को नियम बनाना चाहिए कि कंपनियों को भारत में बने उपकरणों का ही उपयोग करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *