गैंगस्टर विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारा गया

0
गैंगस्टर विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारा गया

कानपुर, उत्तर प्रदेश: कानपुर शूटआऊट के मुख्य आरोपी विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारा गया। कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल के डॉक्टरों ने विकास दुबे को मृत घोषित कर दिया है।

गैंगस्टर विकास दुबे पुलिस मुठभेड़ में मारा गया

पुलिस के अनुसार, विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से कानपुर लाया जा रहा था। इस समय, एसटीएफ के काफिले से संबंधित वाहन का एक दुर्घटना हुई थी। विकास दुबे उसी कार में बैठा था । हादसे के बाद विकास दुबे ने एसटीएफ अधिकारी के हाथ से पिस्तौल छीन ली और घटनास्थल से भागने की कोशिश की।

विकास दुबे ने पुलिस पर गोलियां चलाईं। उसको भागता देख पुलिस ने भी जवाबी कार्यवाही में गोलियां चलाई । इस बीच, दुबे घायल हो गया और कुछ ही समय बाद उसकी मौत हो गई, पुलिस ने दावा किया। घटना में चार पुलिसकर्मी घायल हो गए,

कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने कहा।कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी और कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को गुरुवार सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन में गिरफ्तार किया गया।

पुलिस के सामने विकास दुबे ने किया था सरेंडर?

यह भी पता चला कि गैंगस्टर विकास दुबे, जो कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या करने के बाद फरार हो गया था , ने उज्जैन में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए 2.5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। यही नहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस को एक सप्ताह का अल्टीमेटम दिया था।

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की मौत

उत्तर प्रदेश के कानपुर में अपराधियों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर विकास दुबे के गुंडों ने गोलियां चला दी थीं। यह घटना कानपुर के चौबेपुर पुलिस थाना क्षेत्र के एक गाँव बिकरू में हुई थी। हमले में एक पुलिस उपाधीक्षक सहित आठ पुलिसकर्मी मारे गए और सात अन्य घायल हो गए। गुंडों ने पुलिस से एक एके -47 राइफल, एक इंसास
राइफल, एक ग्लॉक पिस्टल और दो 9 एमएम की ग्लाक पिस्तौल जब्त की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here