द्वेष फैलानेवाले पोस्ट; कंपनियों ने फेसबुक का बहिष्कार किया

Share this News (खबर साझा करें)

ऑकलैंड: समुदाय में अभद्र भाषा और विभाजनकारी पोस्ट बढ़ने के कारण कई कंपनियों ने फेसबुक का बहिष्कार किया है। बहिष्कार के परिणामस्वरूप, फेसबुक के शेयर की कीमत में आठ प्रतिशत की गिरावट आई है और इसकी बाजार पूंजी में 50 अरब डॉलर की गिरावट आई है। इस बीच, फेसबुक ने स्पष्ट किया है कि वह राजनीतिक नेताओं के पोस्ट पर चेतावनी का संकेत देगा।

कंपनियों ने फेसबुक का बहिष्कार किया

विवाद की शुरुआत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के पोस्ट को लेकर हुई। ट्रम्प ने भविष्यवाणी की थी कि राष्ट्रपति मेल-इन वोट एक घोटाला होगा। फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने मामले में ट्रम्प की पोस्ट पर कोई कार्रवाई नहीं की। इसके विपरीत, ट्विटर ने सूचना का सत्यापन करने का संकेत दिया था। फेसबुक ने एक स्टैंड लिया है कि नागरिकों को राजनीतिक नेताओं के सभी विचारों को समझने का अधिकार है। इसलिए, ट्रम्प के विरोधियों के साथ, फेसबुक के कर्मचारियों ने भी कंपनी की आलोचना की।

घटना के बाद से फेसबुक ने अपनी नीति बदल दी है, और जुकरबर्ग ने इसके बारे में एक विस्तृत पोस्ट लिखा है। यह नए परिवर्तनों की सूचना देता है। ये बदलाव हमारे देश के सामने आने वाली चुनौतियों की वास्तविकताओं को दूर करने के लिए किए जा रहे हैं। चुनाव संबंधी गलत सूचना को रोकने के लिए फेसबुक अतिरिक्त सावधानी बरत रहा है।

मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के निदेशक एथन ज़ुकरमैन ने कहा, “ये बदलाव आगामी चुनाव में झूठी सूचना फैलाने में फेसबुक की भूमिका के महत्व को रेखांकित करते हैं।” इन परिवर्तनों की सफलता इस बात पर निर्भर करती है कि ऐसे पोस्ट की पहचान करने में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कितना सफल है। उन्होंने कहा कि अगर हर पोस्ट पर ऐसा कोई संकेत दिखाई दे तो यूजर्स इसे नजरअंदाज करना शुरू कर देंगे।

>> चुनाव अपप्रचार पर रोक

– फेसबुक में किए गए बदलाव मुख्य रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका में मतदान पर केंद्रित हैं।
– मतदान से संबंधित सभी पोस्ट में एक नया आइकन होगा, जो उपयोगकर्ता को स्थानीय या राज्य स्तर के प्रशासन से सीधे कनेक्ट करेगा।
– मतदाताओं को मतदान से रोकने के प्रयास में गलत सूचना पोस्ट करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।
– संयुक्त राज्य में मतदान से 72 घंटे पहले स्थानीय मतदान केंद्रों के बारे में गलत जानकारी पोस्ट करने के लिए निगरानी की जाएगी। ऐसे पोस्ट को तत्काल हटाया जाएगा।

फेसबुक, ट्विटर के शेयर गिर गए

यूरोप में ‘बेन अँड जेरी’ एंड ‘डव्ह’ जैसी कंपनियों ने फेसबुक पर अभद्र भाषा और विभाजनकारी पोस्ट के उदय के कारण इस साल के अंत तक फेसबुक का बहिष्कार किया है। कोका-कोला ने भी कम से कम 30 दिनों के लिए फेसबुक के बहिष्कार की घोषणा की है। यूनिलीवर ने इस साल के अंत तक फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम का बहिष्कार किया है। परिणामस्वरूप, फेसबुक और ट्विटर के शेयर तेजी से गिर गए। फेसबुक के शेयर आठ फीसदी गिर गए, जबकि ट्विटर के शेयर सात फीसदी गिर गए। आगामी राष्ट्रपति चुनाव के कारण निर्णय लिया गया है और उन्होंने कहा है कि वह इस साल के अंत तक सोशल मीडिया पर विज्ञापन नहीं देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *