पॉवरफुल लाइट कोरोना मरीजों के शरीर में छोड़िये , जिससे उनके शरीर में मौजूद कोरोना नष्ट हो जाए- ट्रम्प

0
46
पॉवरफुल लाइट कोरोना मरीजों के शरीर में छोड़िये

पॉवरफुल लाइट कोरोना मरीजों के शरीर में छोड़िये

वाशिंगटन: संयुक्त राज्य में कोरोनाविरस की संख्या 9 मिलियन के करीब पहुंच रही है। कोरोना वायरस ने देश में 50,000 से अधिक रोगियों को मार दिया है। इसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अजीब सलाह दी है। कोरोना वायरस टास्क फोर्स की प्रेझेंटेशन के दौरान, एक वैज्ञानिक ने तर्क दिया कि वायरस सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने के दो मिनट के भीतर मर जाता है। उसपर ट्रम्प ने कहा, की ऐसेही पॉवरफुल लाइट कोरोना मरीजों के शरीर में छोड़िये , जिससे उनके शरीर में मौजूद कोरोना नष्ट हो जाए । दिलचस्प बात यह है कि ट्रम्प ने बीच में बात की जबकि शोधकर्ता इसके बारे में बात कर रहे थे, और वैज्ञानिकों ने बिना रुके इसे अनदेखा करते हुए अपनी ब्रीफिंग जारी रखी।

अल्कोहोल का इंजेक्शन दे सकते है क्या ये भी देखिए – ट्रम्प

अजीब बयान देने के लिए दुनिया भर में ट्रोल किए जा रहे डोनाल्ड ट्रम्प यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि ब्लीच और आइसोप्रोपिल अल्कोहल जैसे क्लीनर को शरीर में इंजेक्ट किया जाना चाहिए। ट्रम्प के बयान का एक कारण है। ट्रम्प को इससे पहले अमेरिकी विदेश विभाग के प्रौद्योगिकी निदेशालय के प्रमुख बिल ब्रायन ने जानकारी दी थी। यह कहा गया था कि ब्लीच और आइसोप्रोपिल अल्कोहल वायरस को 5 मिनट में मार देते हैं और अल्कोहोल 30 सेकंड में नष्ट करता है । आइसोप्रोपिल अल्कोहल का उपयोग वाशिंग पाउडर और अन्य रसायनों को बनाने के लिए किया जाता है। शोधकर्ताओं ने ब्रीफिंग के दौरान ट्रम्प की टिप्पणियों की अनदेखी की। कुछ भी जवाब न देना ही बेहतर समझा । फिर भी ट्रम्प ने बात करना बंद नहीं किया है। उन्होंने आगे कहा, मैंने पहले ही कहा था कि कोरोना वायरस को सूरज की किरणे मिटा सकती हैं । लेकिन किसी ने मेरी नहीं सुनी। यही बात अब इन वैज्ञानिकों ने सिद्ध कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here