सरकार के साथ रिलायंस; कोरोना समर्पित अस्पताल दो सप्ताह में स्थापित किया गया

0
96
सरकार के साथ रिलायंस; कोरोना समर्पित अस्पताल दो सप्ताह में स्थापित किया गया

सरकार के साथ रिलायंस; कोरोना समर्पित अस्पताल दो सप्ताह में स्थापित किया गयामुंबई: मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज की टीम ने कोरोना वायरस पर काबू पाने के लिए बड़े फैसले लिए हैं। रिलायंस ने दो सप्ताह की बहुत कम अवधि में 100 बेड की क्षमता वाला देश का पहला कोरोना समर्पित अस्पताल स्थापित किया है, जबकि क्वारंटाइन सुविधा, परीक्षण किट और 10 लाख मास्क प्रति दिन का निर्माण रिलायंस द्वारा किया जाएगा।

मुंबई के नगर निगम की मदद से, सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन ने मुंबई के सेवन हिल्स अस्पताल में 100-बेड क्षमता वाले केंद्र शुरू किए गए है। यहां कोरोना मरीजों का इलाज किया जाएगा।

यह देश में करोना को समर्पित पहला केंद्र है और सारा खर्च रिलायंस द्वारा किया जाएगा। इस केंद्र पर निगेटिव्ह प्रेशर वाले कमरे स्थापित किए गए हैं, जो करोना संक्रमण को रोकेंगे और संक्रमित लोगों की संख्या को रोकने में मदद करेंगे। इसकी सूचना कंपनी ने खुद दी थी। सभी बेड आवश्यक सामग्री के साथ उपलब्ध हैं। वेंटिलेटर, पेसमेकर, डायलिसिस मशीन और पेशंट मॉनिटरिंग सामग्री भी उपलब्ध कराई गई है।

विदेश के व्यक्तियों को कॉरेंटाईन में रखा जा रहा है। इसके लिए सर एच एन रिलायंस फाउंडेशन विशेष चिकित्सा सुविधा प्रदान करने पर भी सहमत हुआ है। रिलायंस ने कहा कि यह अलगाव के लिए आवश्यक सुविधाएं प्रदान करेगा और मरीजों को बेहतर उपचार प्रदान करेगा।

कोरोना परीक्षण करने के लिए रिलायंस लाइफ साइंस से आवश्यक किट और सामग्री आयात की जा रही है। रिलायंस के डॉक्टर और शोधकर्ता समय के साथ घातक वायरस से लड़ रहे हैं, कंपनी ने कहा।

रिलायन्स मास्क उत्पादन की क्षमता को भी बढ़ाएगा

रिलायंस प्रतिदिन 10 लाख मास्क का उत्पादन करने की तैयारी कर रही है। इसके अलावा, निजी सुरक्षा सामग्री के निर्माण पर जोर दिया गया है। कोरोना वायरस के मरीजों पर काम करने वाले डॉक्टरों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए भी आवश्यक कपड़े उपलब्ध कराए जाएंगे।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ग्रुप ने राज्य में लोधिवली में विशेष कॉरेंटाईन सुविधा प्रदान की है और इसे जिला प्रशासन को दिया है। कंपनी ने कहा कि कंपनी के सभी रिटेल आउटलेट्स का संचालन जारी रहेगा और आपातकालीन सुविधाओं का परिवहन करने वाले वाहनों को उनके ईंधन केंद्रों से मुफ्त ईंधन प्रदान किया जाएगा, रिलायंस ने कहा।

रिलायंस ने अधिकांश कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दी है । केवल आवश्यक सेवाओं में काम करने वाले कर्मचारी ही काम की जगह जाकर काम कर रहे है । इसके अलावा, रिलायंस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री सहायता कोष में 5 करोड़ रुपये का योगदान दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here