आवाज का जादूगर खो गया ! एस पी बालसुब्रमण्यम का निधन

0
आवाज का जादूगर खो गया ! एस पी बालसुब्रमण्यम का निधन

दिग्गज बॉलीवुड गायक एस. पी. बालासुब्रमण्यम ने आज अंतिम सांस ली। वह 74 वर्ष के थे। उनके बेटे ने उनके निधन की सूचना दी है।

बालसुब्रमण्यम कोरोना से संक्रमित थे। उस पर उन्होंने काबू पा लिया था। लेकिन कुछ दिनों पहले उनकी तबीयत फिर से बिगड़ गई थी। वह तब से अस्पताल में भर्ती थे । गुरुवार को अचानक उनकी हालत बिगड़ गई। उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा गया था। आज उनका निधन हो गया।

आवाज का जादूगर खो गया ! एस पी बालसुब्रमण्यम का निधन

बालासुब्रमण्यम के निधन पर कला जगत शोक में है। कई ने सोशल मीडिया के जरिए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

5 अगस्त को, बालासुब्रमण्यम ने खुद एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें उन्हें कोरोना संक्रमण के बारे में बताया ।

74 वर्षीय बालासुब्रमण्यम ने 16 विभिन्न भाषाओं में 40,000 से अधिक गाने गाए हैं। उन्हें सर्वश्रेष्ठ गायक के लिए छह बार तेलुगु, तमिल, कन्नड़ और हिंदी गीतों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उन्हें 2001 में पद्म श्री और 2011 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

‘सलमान की आवाज’

सलमान की 1989 की फ़िल्म मैने प्यार किया के सभी गाने बालासुब्रमण्यम द्वारा गाए गए थे। ये सभी गाने काफी लोकप्रिय हुए थे। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत में सलमान के लिए कई गाने गाए। कई सालों तक उन्हें ‘सलमान की आवाज’ के रूप में जाना जाता था।

लगातार 12 घंटे में 21 गाने

एस पी बालासुब्रमण्यम ने 8 फरवरी, 1981 को एक अद्भुत रिकॉर्ड बनाया। उन्होंने सुबह 9 बजे से रात 9 बजे तक 21 गाने कन्नड़ में रिकॉर्ड किए थे। उन्होंने एक दिन में तमिल में 19 और हिंदी में 16 गाने रिकॉर्ड किए थे। शुरुआत में, उनकी दिनचर्या एक दिन में 15-16 गाने रिकॉर्ड करने की थी। लेकिन वह गाने को लेकर उतने ही गंभीर थे। अगर उन्हें कोई गाना मुश्किल लगता है, तो उन्हें इसे रचने में 8-10 दिन लग जाते थे  और अगर निर्माता जल्दबाजी दिखते तो वे गाने से इन्कार कर देते ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here